33.2 C
New Delhi
Wednesday, May 12, 2021

पंत अपने गुरु धोनी पर भारी पड़े: दिल्ली के कप्तान बोले- माही के साथ टॉस के लिए जाना मेरे जीवन का खास पल; धोनी ने हार का ठीकरा गेंदबाजों पर फोड़ा

- Advertisement -
- Advertisement -

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई17 घंटे पहले

टॉस के लिए जाते हुए दिल्ली के कप्तान ऋषभ पंत और चेन्नई के कैप्टन महेंद्र सिंह धोनी।

दिल्ली कैपिटल्स (DC) ने चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) को IPL 2021 के दूसरे मैच में 7 विकेट से हरा दिया। 189 रन के टारगेट को DC ने 19वें ओवर में हासिल कर लिया। मैच के बाद पहली बार दिल्ली की कप्तानी कर रहे ऋषभ पंत ने कहा कि महेंद्र सिंह धोनी के साथ टॉस के लिए जाना उनके जीवन के सबसे खास पलों में से एक है। वहीं, CSK के कप्तान धोनी ने कहा कि उनके गेंदबाजों के खराब प्रदर्शन की वजह से मैच में हार मिली।

‘धोनी मेरे आदर्श, उनसे काफी कुछ सीखा’
पंत ने मैच के बाद कहा कि मैच जीतना वाकई अच्छा अहसास है। मैच के दौरान मैं प्रेशर में था। पर आवेश खान और टॉम करन ने मिडिल ओवर्स में अच्छी गेंदबाजी की और चेन्नई को 188 रन पर रोक दिया। माही के साथ टॉस के लिए जाना सुखद पल था। मैंने उन्हें हमेशा आदर्श की तरह देखा है। धोनी से काफी कुछ सीखा है।

‘पृथ्वी-धवन ने पावरप्ले में शानदार बल्लेबाजी की’
पंत ने कहा कि मैच से पहले हम सोच रहे थे कि एनरिक नॉर्खिया और कगिसो रबाडा के बिना हम क्या करेंगे। फिर हमने सोचा कि हमारे पास जो ऑप्शन मौजूद हैं, उसमें से बेस्ट टीम चुनेंगे। हमने नेट रन रेट को लेकर कोई एफर्ट नहीं दिखाया। अभी टूर्नामेंट की शुरुआत ही हुई है। पृथ्वी और धवन ने हमारे लिए पावरप्ले में शानदार बल्लेबाजी की। उन्होंने अच्छे शॉट्स लगाए और प्रेशर नहीं बनने दिया।

‘हमारी बैटिंग के दौरान गेंद रुक-रुक कर आई’
CSK के कप्तान धोनी ने कहा कि मैच में ओस का रोल महत्वपूर्ण रहा। हम मैच से पहले भी इसके बारे में सोच रहे थे। ओस की वजह से हम ज्यादा से ज्यादा रन बनाना चाहते थे। हमारे बैट्समैन ने अच्छी बैटिंग की और स्कोर को 188 रन तक पहुंचाया। मैच के शुरुआती 50 मिनट में गेंद रुक-रुक कर आ रही थी। आगे भी मैच में ओस रहेगी, इसलिए हमें 15-20 रन और बनाने की जरूरत है। अगर ओस इसी तरह से रही तो ऐसी पिचों पर कम से कम 200 रन बनाने ही होंगे।

‘हमारे गेंदबाज आगे के मैच में अच्छा प्रदर्शन करेंगे’
धोनी ने कहा कि हम और अच्छी गेंदबाजी कर सकते थे। अगर विपक्षी टीम का बल्लेबाज अच्छी गेंद पर बड़े शॉट्स मार रहा है, तो इसमें कोई बुराई नहीं है। पर हमारे गेंदबाजों ने खराब गेंदबाजी की। जिन गेंदों पर चौके-छक्के लगे, वे वाकई खराब गेंद थी। हालांकि, इससे उन्हें काफी कुछ सीखने को मिलेगा और आगे आने वाले मैचों में अच्छी गेंदबाजी कर सकेंगे।

खबरें और भी हैं…
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here